independence day speech in hindi

15 अगस्त स्वतंत्रता दिवस पर भाषण 2021 | independence day speech in hindi

Independence day speech in hindi 2021 : 15 अगस्त पर भाषण | स्वतंत्रता दिवस पर भाषण – नमस्कार विद्यार्थी मित्रों ! सबसे पहले आप सभी को भारतीय स्वतंत्रता दिवस की ढेर सारी शुभकामनाएं। हमारे देश मे हर साल 15 अगस्त स्वतंत्रता दिवस की तौर पर मनाया जाता है। कुछ लगभग 75 साल पहले इसी दिन हमारा देश ब्रिटिश शासन से मुक्त होकर एक स्वंतत्र देश बन चुका था।

यह स्वतंत्रता दिन 2021 हमारे देश में सभी स्कूलों, कॉलेजों और दफ्तरों में बड़ेही धूमधाम से मनाया जाता हैं। भाषण और वकृत्व स्पर्धाओं का आयोजन भी किया जाता हैं। बच्चे और अध्यापक स्वतंत्र दिवस पर अपने विचार रखते हैं। इसलिए हमने इस लेख में आप सभी के लिए स्वतंत्रता दिवस पर भाषण independence day speech in hindi लिखा है।

यह स्वतंत्रता दिवस पर भाषण independence day speech in hindi आप सभी स्कूलों कॉलेजों और दफ्तरों में आयोजित किए जाने वाले वक्तृत्व स्पर्धाओं में उपयोग कर सकते हैं।

Independence day speech in hindi 2021 : 15 अगस्त पर भाषण | स्वतंत्रता दिवस पर भाषण

भारतीय स्वतंत्रता दिवस पर 10 लाइनों में भाषण | 10 lines on independence day in hindi

  1. 15 अगस्त 1947 को भारत देश को आजादी मिली है।
  2. यह 15 अगस्त स्वतंत्रता दिवस हर साल पूरे भारत देश में सभी स्कूलों कॉलेजों और दफ्तरों में बडेही धूमधाम से मनाया जाता हैं। यह भारत का राष्ट्रीय उत्सव है।
  3. इस दिन भारत के पंतप्रधान दिल्ली में स्थित लाल किले पर तिरंगा झेंडा लहराकर भारत वासियों को स्वतंत्र दिन पर संबोधित करते हैं।
  4. इस दिन भारत के राजधानी शहर बहुत बड़े स्वातंत्र्य दिवस का आयोजन किया जाता हैं। वहां पर कई सारी राष्ट्रीय गतिविधियां आयोजित की जाती हैं।
  5. भारतीय स्वतंत्रता दिवस सभी भारतीय नागरिकों के लिए सम्मान और गर्व का उत्सव है।
  6. भारत के स्वतंत्र संग्राम में कई सारे स्वातंत्र्य सैनिकों ने अपना बलिदान देकर हमारे देश को आजादी दिलाई है। उस स्वातंत्र्य संग्राम और स्वतंत्र सैनिकों की बलिदान याद करने के लिए यह स्वतंत्रता दिवस मनाया जाता है।
  7. स्वतंत्रता संग्राम का लड़ा तब शुरू हुआ जब एक मंगल पांडे नामक क्रांतिकारी ने अंग्रेजों के खिलाफ बंड पुकारा।
  8. भारत देश को स्वतंत्रता दिलाने के लिए महात्मा गांधी, पंडित नेहरू, लाल बहादुर शास्त्री, लाला लाजपत राय, लोकमान्य तिलक, सुखदेव, राजगुरु और चद्रशेखर आजाद जैसे कई सारे स्वतंत्र सेनानियों ने अपना योगदान दिया है।
  9. यह स्वतंत्रता का लड़ा 1857 से 1947 तक चला और आखिर 15 अगस्त 1947 को हमारा देश अंग्रेजों के जुल्मी हुकूमत से आजाद हुआ।
  10. हमे अपने देश, देशगीत और तिरंगे का सम्मान करना चाहिए और हर बुरे वक्त में देश के साथ खड़े रहना चाहिए। यही हमारी सबसे बड़ी देशभक्ति हैं।

स्वतंत्रता दिवस पर भाषण 300 शब्दों में | Independence day speech in hindi in 300 words for students and kids

यहां पर उपस्थित सभी दिग्गजों को मेरा प्रणाम और मेरे प्यारे भाई और बहनों को प्यार भरा नमस्कार ! आज में मेरे सभी अध्यापक और कार्यक्रम के आयोजन को धन्यवाद देता हूं क्योंकि उन्होंने मुझे इस पवित्र दिन अपने विचारों को रखने का अवसर दिया।

आज का दिन हमारे सभी भारतीय भाई और बहनों के लिए एक सबसे बड़ा उत्सव की तरह है। यह हमारे देश का सबसे बड़ा राष्ट्रीय उत्सव है जिसे हर साल हम 15 अगस्त को स्वतंत्रता दिवस की तौर पर मनाते है।

दोस्तों, आप सभी को पता ही होगा कि 15 अगस्त स्वतंत्रता दिवस यह हम सभी के लिए बेहद ही गर्व का दिन है। क्योंकि इसी दिन हमारे भारतीय सैनिकों ने अंग्रेजों के जुल्मी हुकूमत के खिलाफ तकरीबन 90 सालों से उपर तक जंग लड़ी और हमे स्वतंत्रता दिलाई। इसलिए उस स्वतंत्र संग्राम को याद करने के लिए हम 15 अगस्त स्वतंत्रता दिवस बड़े धूमधाम से मनाते है।

यह स्वतंत्रता संग्राम 1857 -1947 के सालों लड़ा गया। इसकी शुरुआत तब हुई जब एक मंगल पांडे नामक भारतीय क्रांतिकारी युवक ने 1857 में अंग्रेज़ अधिकारी को गोली मारी। तब पूरे हिन्दुस्तान मे अंग्रेजों के खिलाफ मोहिमों को प्रेरणा मिली और सभी जगह उनके खिलाफ उठाव हुए। महात्मा गांधी, लाला लाजपत राय, लोकमान्य तिलक, खुदीराम बोस इन क्रांतिकारी विचारों के सेनानियों ने स्वतंत्र संग्राम में अपना महत्वपूर्ण योगदान दिया। उनकी वजह से ही हमे स्वतंत्रता मिल पाई।

हमे आज के दिन उन सभी स्वतंत्र सेनानियों को याद करके हमे उन्हे श्रद्धांजलि अर्पित करनी है। आज दिन हम सभ के लिए काफी महत्वपूर्ण है। में अपने विचारों पर रोख लगाते हुए इस 15 अगस्त स्वतंत्रता दिवस पर भाषण (independence day speech in hindi) समाप्त करता हूं।

|| जय हिंद, जय भारत ||

भारतीय स्वतंत्रता दिवस पर भाषण 500 शब्दों में | Independence day speech in hindi in 500 words for students and kids

आज के कार्यक्रम के अध्यक्ष, मुख्य अतिथि, सम्मानित सभी शिक्षकगन और मेरे प्यारे भाई और बहनों। सबसे पहले आप सभी को स्वतंत्रता दिवस की ढेर सारी शुभकामनाएं और बधाई ! में यहां 15 अगस्त स्वतंत्रता दिवस पर भाषण और अपने विचार (independence day speech in hindi) व्यक्त करने के लिए आपके सामने खड़ा हूं।

दोस्तों 15 अगस्त 1947 को हमारे भारत देश को आजादी मिली। यही वह दिन था जिस दिन हमारे कई सारे स्वातंत्र्य सैनिकों ने अपने प्राणों की बलिदानी देकर हमारे देश को अंग्रेजों के जुल्मी हुकूमत से आजादी दिलाई। यह दिन हमारे सभी भारतीय नागरिकों के लिए बेहद ही गर्व और सम्मान का दिन है। हमे गर्व होना चाहिए कि हम एक स्वतंत्र देश के नागरिक हैं।

हर साल 15अगस्त स्वतंत्रता दिवस हम बहुत ही धूमधाम से मानते है। यह हमारा सबसे बड़ा राष्ट्रीय उत्सव है। भारत के राजधानी शहर दिल्ली में इस कार्यक्रम का बहुत बड़ा आयोजन होता हैं। दिल्ली में स्थित लाल किले पर भारत के पंतप्रधान तिरंगा लहराते है और देशवासियों को संबोधित करते हैं।

इस कार्यक्रम के दौरान अनेक राष्ट्रीय गतिविधियां आयोजित की जाती हैं। लोग इस कार्यक्रम को देखने के लिए दूर दूर से दिल्ली आते है, जो यहां नहीं आते उनके लिए टीवी पर लाइव प्रसारण चलता हैं।

अंग्रेज़ व्यापार करनेकी हेतु से हमारे देश में आए और धीरे धीरे अपने व्यापार को पूरे हिन्दुस्तान में फैलाकर उन्होंने हिन्दुस्तान को अपने काबू में कर लिया। उनका लगबग 200 सालों तक हम पर शासन रहा था।

भारत के सभी स्वतंत्र सेनानियों ने अंग्रेजों के खिलाफ लड़ा दिया तब जाकर हमे आजादी मिली है। इसमें कई सारे लोगों ने अपने प्राणों की आहुति दी है। उनकी वजह से ही आज हम शांति और सुख समाधान के साथ जी पा रहे हैं। नहीं तो आज भी हम अंग्रेजों के गुलाम होते, उनके जाचक और क्रूर आत्याचारों को सह रहे होते।

स्वतंत्र पूर्व काल में हम सभ अंग्रेजों के गुलाम थे। हमे किसी भी चीज में स्वतंत्रता नहीं थी। हम न शिक्षा लेने का अधिकार था न नौकरी करने का ? हम तो सिर्फ उनके लिए काम करने वाले गुलाम थे।

लेकिन आज हम एक स्वतंत्र देश के नागरिक हैं। हमारे देश में सबसे बड़ा लोकतंत्र है। हमारे देश की उन चुनिंदा देशों में गिनती होती हैं जो विश्व में शीर्ष पर हैं। हमारे देश ने विज्ञान, तकनीक, औद्योगिकी और खेती के क्षेत्रों में आविष्कार कर पूरे विश्व में अपना नाम कमाया हैं। हमारा देश प्रगति की और काफी तेजी से बढ़ रहा है।

मनोरंजन और खेलखुद में भी हमारे देश हमारा देश पीछे नहीं हैं। हमारे देश के पास कई सारे ओल्यंपिक गोल्ड और सिल्वर मेडल है। हमारे देश के कई सारे संगीतकारों को, वैज्ञानिकों को, कलाकारों को, खिलाड़ियों को पारितोषिक देकर सम्मानित किया गया है। यह हमारे लिए बेहद ही गर्व की बात है।

हमारे देश ने हमे बहुत सारे अधिकार दिए है, जिनकी वजह से हम एक स्वतंत्र और शांतिपूर्वक जिंदगी जी सकते है। लेकिन इसके साथ हमे अपने कर्तव्यों को भी नहीं भूलना चाहिए।

मेरी आप सभी से यहीं गुजारिश है कि आप सभी को अपना देश और अपने तिरंगे का सम्मान करना चाहिए, देश के कानून और नियमों का कटिबद्ध पालन करना चाहिए यही हमारे लिए सबसे बड़ी देशभक्ति है।

आपने मेरे स्वतंत्रता दिवस पर भाषण को शांतिपूर्वक सुन लिया और आयोजकों ने मुझे इसकी अनुमति दी इसलिए आप सभी को धन्यवाद देता हूं और मेरे दो शब्द समाप्त करता हूं।

||भारत माता की… जय ||

स्वतंत्रता दिवस पर भाषण 700 शब्दों में | Independence day speech in hindi in 700 words for students

आदरणीय मुख्य आतिथी महोदय, प्रिंसिपल सर, सम्मानिय सभी शिक्षक, अभिभावक और मेरे प्रिय दोस्तों ! आज में आप सभी के सामने स्वतंत्रता दिवस पर अपने विचार रखने जा रहा हूं इसलिए मेरी सबसे यह बिनती हैं कि आप सभी मेरे विचारों को शांतिपूर्वक सुने।

आप सभी को पता ही होगा कि हम यहां किस कारण बैठे है, आज 15 अगस्त है। यह हमारे देश का स्वतंत्र दिन है, इसी दिन 15 अगस्त 1947 को हमारा भारत देश ब्रिटिश शासन से मुक्त हो गया था। इसी दिन हमारे देश को स्वंत्रता मिली थी।

लेकिन हमे स्वंतत्रता यूं ही नहीं मिली है। हमारे देश को स्वतंत्र बनाने के लिए बेहद सारे स्वतंत्र सैनिकों ने अपने प्राणों की आहुति दी है। तब जाकर हमारा देश स्वतंत्र बन चुका है। 15 अगस्त स्वतंत्रता दिवस हम सभी भारतीय नागरिकों के लिए बेहद ही महत्वपूर्ण है। इस दिन हमे भारत माता को स्वतंत्र बनाने में जिन लोगों ने अपने प्राणों की आहुति दी, उन सभी स्वातंत्र्य सैनानियोंको याद कर, उन्हे श्रद्धांजलि अर्पण करनी है।

हमारे देश के स्वतंत्र बनाने वाले संघर्ष की गाथा बेहद बड़ी है, उसे एक दिन में बयां नहीं किया जा सकता पर हम स्वतंत्र संघर्ष के उन कुछ चुनिंदा पलों को याद कर, अपना हौसला बड़ा सकते है, अपने देशप्रती प्रेम को अभिव्यक्त कर सकते हैं।

लगभग 75 वर्ष पहले हमारा देश ब्रिटिश शासन के आधीन था, हमपर उनका शासन था। भारत के सभी गतिविधियों और शासन को वहीं चलाते थे। उन्होंने भारतीय लोगों को गुलाम बनाकर उनका बेहद छल किया। वे भारतीय किसानों से कच्चा सामान उगाकर उसे बेहद है कम दामों में खरीदकर अपने देश में ले जाते और उसी पर प्रक्रिया कर उसी सामान को दुगने दामों में बेचते थे। इसकी वजह से भारतीय किसान और नागरिकों की जबरण वसुली होती थी।

सबसे पहले अंग्रेज़ भारतीय समुद्री किनारों पर व्यापार करने आए, उन्होंने यहां सुरूवाती तौर पर अपनी वस्तुओं को कम दामों में बेच कर लोगों का बिस्वास जीत लिया, भारतीय लोगों के विचारों को और उनकी रीति रिवाजों को बरिकों से समझ लिया। उन्होंने धीरे धीरे अपने व्यापार को पूरे हिन्दुस्तान में फैलाकर हिन्दुस्तान को अपने कब्जे में कर लिया। हिन्दुस्तानियों को गुलाम बनाकर उनपर राज्य करने लगे।

उन्होंने भारतीय लोगों को जतिव्यवस्था में दुभागा और उनकी एकात्मता को खत्म किया। उच्च और नीच जातियों का स्थान देकर लोगों में मतभेद निर्माण किए और वह खुद भारतीय लोगों पर अपना अधिराज्य बना बैठे।

अंग्रेजों को पता था यदि हम हिन्दुस्तानियों कि भावनाओं के साथ खेलकर उन्हें उच्च और निम्न जातियों में दुभगेंगे तो वह कभी एकत्मता से एकजुट होकर हमारे खिलाफ आवाज नहीं उठाएंगे। क्यूंकि उन्होंने भारतीय लोगों के विचारों का, भानवों का और उनकी रीति रिवाजों का बेहद करीबी से अध्ययन किया था। इसलिए वे पूरे 200 सालों तक हम भारतीयों पर राज कर सकें।

बेहद सारे भारतीय सेनानियों ने भारत के स्वतंत्र संग्राम में अपना योगदान दिया, उन्होंने अपने प्राणों की पर्वा न करते हुए हमे स्वतंत्र बनाया। इसलिए आज हम उन्हे याद कर श्रद्धांजलि अर्पण करने यहां एकत्रित जुटे है।

महात्मा गांधी जी ने सत्य और अहिंसा का मार्ग अवलंब कर सभी भारतीयों में एकात्मता से जोड़कर अपनी मुहिम में शामिल कर लिए। उन्होंने अहिंसा से अंग्रेजो के खिलाफ आवाज उठाए। भारत को स्वतंत्र दिलाने में उनका बहुत बड़ा योगदान है।

इसी के साथ लाल बहादुर शास्त्री, पंडित नेहरू, लाला लाजपत राय, लोकमान्य तिलक इन सभी स्वतंत्र सेनानियों ने भी स्वातंत्र्य संग्राम में अपना अनमोल योगदान दिया। हम भगत सिंह राजगुरु और सुखदेव इन तीन क्रांतिकारी सेनानियों को कैसे भुल सकते है ?

आज के इस दिन हम सबको स्वतंत्र संग्राम में अपने प्राण गवाने वाले सभी क्रांतिकारी सेनानियों कि याद कर कसम खानी है कि, “हमे हर परिस्थिति में अपने देश की रक्षा करनी है, सभी बुरी परिस्थितियों एकजुट होकर देश के साथ खड़े रहना है।”

आप सभी ने स्वतंत्र दिवस पर मेरे विचारों को शांतिपूर्वक सुन लिया इसलिए में आप सभी को शुक्रियाअदा करता हूं और मेरे विचारों को समाप्त करता हूं।

|| जय हिंद, जय भारत ||

टिप : विद्यार्थी मित्रों, आज के इस पोस्ट में हमने आपके लिए 15 अगस्त पर भाषण, स्वतंत्रता दिवस पर भाषण independence day speech in hindi लिखा है। यह स्वतंत्रता दिवस पर भाषण आप कक्षा 1,2,3,4,5,6,4,8,9,10 तक इस्तेमाल कर सकते हैं। यह 15 अगस्त पर भाषण (15 august speech in hindi) खास कर स्कूल और कॉलेजों के छात्रों के लिए लिखा गया है।

यह स्वतंत्रता दिवस पर भाषण independence day speech in hindi 2021 आपको कैसा लगा हमे कॉमेंट करके जरूर बताइए।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *