republic day speech in hindi

26 जनवरी भारतीय गणतंत्र दिवस पर भाषण 2021 | 26 january speech in hindi | republic day speech in hindi

26 जनवरी गणतंत्र दिवस पर भाषण 2021 | 26 january speech in hindi | republic day speech in hindi : नमस्कार विद्यार्थी मित्रों ! 26 जनवरी यह दिवस हर साल हमारे देश में गणतंत्र दिवस की तौर पर मनाया जाता हैं। यह दिन हमारे लिए बेहद ही गर्व और सम्मान का दिन है। क्यूंकि इसी दिन हमारा देश पूर्णतः स्वतंत्र हो गया था। इसी दिन हमारे देश में संविधान लागू हो गया था।

यह दिन भारत देश में सभी स्कूलों कॉलेजों और दफ्तरों में बड़ेहि धूमधाम से मनाया जाता हैं। इसमें बच्चे और अध्यापक गणतंत्र दिवस पर भाषण republic day speech in hindi और 26 जनवरी पर भाषण 26 january speech in hindi पर अपने विचार व्यक्त करते हैं।

इसलिए हमने इस पोस्ट में आपके लिए गणतंत्र दिवस पर भाषण republic day speech in hindi लिखा है। यह गणतंत्र दिवस पर भाषण और 26 जनवरी पर भाषण आप सभी कक्षाओं में इस्तेमाल कर सकते हैं।

26 जनवरी गणतंत्र दिवस पर भाषण 2021 | 26 january speech in hindi | republic day speech in hindi

गणतंत्र दिवस पर भाषण 10 लाइनों में |10 lines on republic day in hindi

  1. 26 जनवरी यह दिन हमारे देश में गणतंत्र दिवस की तौर पर मनाया जाता हैं। यह हमारे देश का राष्ट्रीय उत्सव है।
  2. इसी दिन 26 जनवरी 1950 को हमारे देश में संविधान लागू किया गया था।
  3. यह दिन सभी भारतीय नागरिकों के लिए बेहद ही शुभ और महान हैं।
  4. दिल्ली में राजपथ पर गणतंत्र दिवस के दिन देश के पंतप्रधान तिरंगा लहराकर देशवासियों को संबोधित करते हैं। यहां पर अनेक राष्ट्रीय और सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन भी होता हैं।
  5. गणतंत्र का अर्थ होता है कि देश की जानता द्वारा देश का शासन चलाना। जनता द्वारा चुने गए प्रतिनिधि ही देश के कारोबार को संभालते हैं।
  6. हमे इस दिन संविधान से कई सारे अधिकार और कर्तव्य प्राप्त हुए हैं। देश के कानून और नियमों का पालन करना हमारा कर्तव्य है।
  7. हमे आजादी तो 15 अगस्त 1947 को ही मिली थी पर इस दिन हमारे देश में संविधान लागू किया गया।
  8. हमे गर्व होना चाहिए कि हम सब एक लोकतांत्रिक देश के नागरिक हैं।
  9. 26 जनवरी 1950 को डॉ राजेंद्र प्रसाद देश के पहले राष्ट्रपति बने । उन्होंने इसी दिन राष्ट्रपति पद की शपत खाई थी।
  10. हमारे देश को स्वतंत्र बनाने के लिए कई सारे राष्ट्र भक्तों ने अपनी जाने गवाई है इसलिए उनको स्मरण करके हमे उन्हे श्रद्धांजलि अर्पण करनी चाहिए।

26 जनवरी पर भाषण 300 शब्दों में | 26 january speech in hindi in 300 words

आदरणीय व्यासपीठ और इस व्यासपीठ पर विराजित सभी दिग्गजों को मेरा प्रणाम ! सबसे पहले में आप सभी को 26 जनवरी मतलब गणतंत्र दिवस की ढेर सारी शुभकामनाएं और बधाईयां देना चाहता हूं क्योंकि यह हमारा सबसे बड़ा राष्ट्रीय उत्सव है। इसी दिन हमारे देश को पूरी आजादी मिली और हमारे देश मे सविधान को लागू किया गया।

आज हम सब को गर्व होना चाहिए कि हम विश्व में सबसे बड़े लोकतांत्रिक राष्ट्र के नागरिक है। हमारा देश आज पूर्णतः स्वतंत्र हैं। हमे हर क्षेत्र में काम करने की और अपने विचारों को रखनी की अनुमति है। हमारे इस लोकतांत्रिक राष्ट्र ने हमे कई सारे अधिकार दिए हैं जो हमे खुल के जिंदगी जीने की अनुमति देते हैं।

हमारा देश एक लोकतांत्रिक देश होने की वजह से जनता ही जनार्धन है। मतलब किसे पंतप्रधान बनाना है और किसे राष्ट्रपति बनाना है यह सब जानता के ही हाथ में है। जनता द्वारा चुने गए प्रतिनिधि ही देश के कारोबार को संभालते है।

आज हम खुल के जिंदगी जी रहे हैं, स्वतंत्रता से अपने विचार रख पा रहे हैं यह सब मुमकिन हुआ है उन सभी स्वतंत्र सेनानियों कि वजह से जिन्होंने हमे स्वतंत्रता दिलाने के लिए अपने प्राण गंवाए। इसमें लोकमान्य, तिलक, लाला लाजपत राय, पंडित जवाहरलाल नेहरू, महात्मा गांधी और भगत सिंह,सुखदेव, राजगुरु जैसे स्वतंत्र सेनानियों ने अपना योगदान दिया।

महात्मा गांधी जी की सत्य और अहिंसा के बल पर ही हमे आज़ादी मिल पाई हैं। उनका इस स्वातंत्र्य संग्राम में सबसे बड़ा योगदान हैं। इसलिए उन्हें राष्ट्रपिता के नाम से जाना जाता हैं और उनका जन्मदिन 2 अक्टूबर एक राष्ट्रीय उत्सव की तौर पर मनाया जाता हैं।

यह दिन हमारे सभी देशवासियों के लिए बेहद खुशी का दिन है। इसलिए इसे स्कूलों कॉलेजों और दफ्तरों में सभी जगह आयोजित किया जाता हैं। राजपथ पर देश का सबसे बड़ा गणतंत्र दिवस मनाया जाता है। देश के पंतप्रधान तिरंगा लहराकर देशवासियों को संबोधित करते हैं।

विविध राष्ट्रीय और सांस्कृतिक कार्यक्रमों को आयोजित किया जाता हैं। तिन्हों दलों के सैनिक अपना शक्ति प्रदर्शन करते हैं और देश की ताकत को जताते हैं। बाद में प्रैड भी होता है। इस कार्यक्रम के लिए बाहरी देश के पंतप्रधान, राष्ट्रपति या राष्ट्रध्यक्ष को प्रमुख अतिथि की तौर पर आमंत्रित किया जाता हैं। यह बेहद ही खूबसूरत पर्व होता हैं।

हमे हमेशा अपने अधिकारों को अपनाकर कर्तव्यों को निभाना है। हमे देश के प्रति प्रेम और सम्मान रखना है। आतंगवाद, भ्रष्टाचार, हिंसा जैसी गंदीगी को देश से मिटाकर हमे अपने राष्ट्र को विश्व में सबसे ऊंचा स्थान दिलाना हैं। आज हम कसम खाते हैं कि हम सब मिलकर देश की समस्याओं से लडेंगे और देश की कानून और नियमों का कटिबद्ध रूप से पालन करेंगे। तभी हमारा आज का यह गणतंत्र दिवस (republic day) सही रूप से सफल होगा।

आप सभी ने मुझे 26 जनवरी की इस पावन अवसर पर अपने विचार रखने की अनुमति दी इसलिए में आप सभी को धन्यवाद देता हूं और मेरे विचारों को समाप्त करता हूं।

|| भारत माता कि जय…जय जवान ! जय किसान!||

गणतंत्र दिवस पर भाषण 400 शब्दों में | republic day speech in hindi in 400 words

सुप्रभात भाई और बहनों ! आप सभी को मेरा प्यार भरा नमस्कार। आज में यंहा आप सभी के सामने 26 जनवरी गणतंत्र दिवस पर अपने विचार व्यक्त करने के लिए खड़ा हूं। सबसे पहले में आप सभी को धन्यवाद देना चाहता हूं क्योंकि आपने मुझे भारतीय गणतंत्र दिवस की इस शुभ अवसर पर अपने विचार रखने की अनुमति दी।

आज हम सभी यहां भारत का 72 वा गणतंत्र दिवस मनाने के लिए एकत्रित हुए हैं। यह हम सभी के लिए बेहद ही गर्व और सम्मान का दिन है। इसी दिन हमारे देश में संविधान को लागू किया गया था। 26 जनवरी 1950 से हरसाल हम हमारे देश 26 जनवरी को बड़े धूमधाम से गणतंत्र दिवस मानते हैं। यह हम सभी के लिए बेहद ही शुभ और महान अवसर है।

हमारे लिए यह दिन बेहद महत्व रखता है। क्योंकि इसी दिन से हमारे देश में लोकतंत्र की शुरुवात हुई, हमारा देश एक स्वतंत्र गणतंत्र देश बन गया। यदि आपको रिपब्लिक या गणतंत्र का मतलब क्या है? पता नहीं है तो में आपको बता दूं कि गणतंत्र राष्ट्र उस राष्ट्र को कहा जाता है जिसमें देश का कारोबार लोगों द्वारा चुने गए प्रतिनिधि द्वारा चलाया जाता हैं।

इसमें देश के नागरिकों को मतदान करके प्रतिनिधि को चुनने का और अविश्वास प्रस्ताव करके देश में चुने गए शासन को बर्खास्त करने का अधिकार होता हैं। गणतंत्र राष्ट्र में लोगों द्वारा चुने गए प्रतिनिधि द्वारा शासन चलाया जाता हैं।

जब से हमारा देश स्वतंत्र हुआ है तब से हमारे देश ने काफी प्रगति कर ली है। आज हमारा देश विश्व के उन चुनिंदा देशों में शुमार है जो सबसे विकसित और शक्तिशाली है। हमारे देश ने विज्ञान, तकनीक और औद्योगिकी के क्षेत्रों में भी काफी सफलता हासिल की है। आज हमारा देश सभी मामलों में एक स्वयंपूर्ण राष्ट्र है।

लेकिन आज भी हमारे देश मे कुछ ऐसी समस्याएं हैं जो हमे शर्मिंदा करती हैं। अपराध, भ्रष्टाचार और हिंसा जैसी समस्याएं हैं आजभी हमारे देश के विकास के आड़ आ रही है। इसके साथ गरीबी, बेरोजगारी, भ्रष्टाचार, अशिक्षा और असमानता जैसी कमिया भी है। हमे अपने देश और देशवासियों के विकास के लिए इन समस्याओं से लड़ना है और देश को एक सुरुक्षित और सक्षम राष्ट्र बनाने की तरफ प्रयास करना है।

जब हमारे देश का हर एक नागरिक सुरूक्षित और सुख शांति से  जिंदगी जी पाएगा, गरीबी और बेरोजगारी खत्म होकर सबको पेट भर खाना मिलेगा तबि जाकर हमारा एक विकसित राष्ट्र कहलाएगा।

हमे अपने देश और देशवासियों के विकास के लिए सदा प्रयास करते रहना हैं,  देश की सभी मुश्किलों और समस्याओं में एकत्रित होकर देश के साथ खड़े रहना है। आज के गणतंत्र के दिवस पर हम सभी राष्ट्र भक्तों को याद कर उन्हे श्रद्धांजलि अर्पण करते हैं और में अपने 26 जनवरी पर भाषण के विचारों को समाप्त करता हूं।

|| जय हिंद..जय हिंद…जय हिंद… ||

गणतंत्र दिवस पर भाषण 500 शब्दों में | republic day speech in hindi in 500 words

आदरणीय प्रमुख अतिथि, प्रधानाध्यापक, शिक्षक गण और मेरे प्यारे भाई और बहनों आज हम यहां क्यूं इकट्ठा हुई है? आप सभी को पता ही होगा। आज 26 जनवरी है मतलब हमारे देश का गणतंत्र दिवस ।

यह 26 जनवरी दिवस हमारे सभी भारतीय नागरिकों के लिए बेहद ही सम्मान और गर्व का दिन है। क्योंकि इसी दिन हमारा देश स्वयंचालित हो गया था, मतलब हमारे देश में 26 जनवरी 1950 को सविंधान लागू हो गया था। आप यह कह सकते हैं कि इस दिन से हमारा देश अंग्रेजों की जुल्मी हुकूमत से पूर्णतः स्वतंत्र हो गया था।

हालाकि हमे आजादी तो 15 अगस्त 1947 को ही मिली थी पर देश का शासन हमारे हाथ में नहीं था। हमारे पास ऐसी कोई राष्ट्रीय किताब या संविधान नहीं था जो कि हमारे देश को चलाने के लिए काबिल हो।

किसी भी देश को ठीक तरह से चलाने के लिए कुछ नियम और कानूनों का होना बेहद ही जरूरी होता है। तभी उस देश में सुरक्षित तरिकेसे लोकतंत्र टिक सकता है। इसके बिना देश चलाना लगभग नामुमकिन है।

इसलिए हर एक स्वतंत्र राष्ट्र के पास अपना एक राष्ट्रीय किताब होता है जिसे की संविधान कहा जाता है। इसी संविधान में वह सभी नियम, कानून, कर्तव्य और अधिकारों को लिखा जाता हैं जो कि हमे एक स्वतंत्र देश को चलाने के लिए मदद करते हैं।

हमारे भारत देश को आजादी मिलने के बाद हमारे देश का संविधान लिखना शुरू किया गया। यह संविधान लिखने का महान कार्य डॉ बाबासाहेब आंबेडकरजी ने किया। इसके लिए उन्होंने कई सारे राष्ट्रों के संविधानों का अध्ययन किया। उनमें से जो कानून और नियम उन्हे अपने देश के लिए ठीक लगे उन्होंने वह उठाए और अपने देश के संविधान की रचना की।

हमारे देश का संविधान विश्व में सबसे काबिल माना जाता हैं। इसी की वजह आज हमारे देश में लोकतंत्र कायम हैं। हमारे देश में अलग अलग धर्मों, अलग अलग जातियों और अलग अलग विचारों के लोग रहते हैं फिर भी हमारा देश हर बुरी परिस्थितियोंं में हमेशा एकजुट रहता है। यह बात बाकी देशों के लोगों को हमेशा प्रेरित करती है।

हमारे देश का संविधान तैयार करने के लिए 2 साल 11 महीने और 18 दिन लगे और यह 26 नवंबर 1949 को बनकर तैयार हुआ। इसे 26 जनवरी 1950 को पूरे देश में लागू किया गया और इसी दिन डॉ राजेंद्र प्रसाद ने स्वतंत्र भारत के पहिले राष्ट्रपति के रूप में शपथ ली।

हमारा देश का संविधान विश्व का सबसे बड़ा लिखित संविधान है जिसे बनाने में लगभग ढाई साल लगे। इस संविधान में दुनिया के कई सारे देशों के संविधानों से अच्छी बातों को संगठित किया गया है। हमारा देश संसादनिय कार्य प्रणाली पर आधारित है मतलब सांसद हमारे देश के शासन प्रणाली का सर्वोच्च है।

यह स्वतंत्रता हमे यूं ही नहीं मिली है इसके के लिए हमारे कई सारे राष्ट्र भक्तों ने देश प्रति बलिदान दिया है। अंग्रेजों के जाचक और क्रूर हुकूमत के खिलाफ आवाज उठाकर उनके खिलाफ स्वतंत्रता की लड़ाई लड़ी है। तब जाके हमारा देश एक स्वतंत्र राष्ट्र बन चुका है।

हमे गर्व होना चाहिए कि हम एक स्वतंत्र राष्ट्र के नागरिक हैं। हमे इस बात को सम्मान के साथ दोहराना चाहिए। हमें देश के उन सभी राष्ट्र भक्तों को याद करके सलाम करना है जिन्होंने हमारे देश को आजादी दिलाने के लिए अपने प्राण गंवाए।

दोस्तों में आप सभी को धन्यवाद देना चाहता हूं क्योंकि अपने मेरे गणतंत्र दिवस पर भाषण republic day speech in hindi को शांतिपूर्वक सुन लिया। 26 जनवरी पर में अपने विचारो को विराम देता हूं।

|| जय हिंद ! जय भारत ! ||

टिप : दोस्तों आज कि इस पोस्ट में हमने आपको भारतीय गणतंत्र दिवस पर भाषण republic day speech in hindi इस विषय पर 10 लाइनों में, 100 शब्दों में, 300 शब्दों में, 400 शब्दों में और 500 शब्दों में गणतंत्र दिवस पर भाषण लिखा है। यह भाषण आप कक्षा पहिले से दसवीं कक्षा तक उपयोग कर सकते हैं।

26 जनवरी पर भाषण (26 january speech in hindi) आपको कैसा लगा हमे कॉमेंट करके जरूर बताइए, धन्यवाद।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *