diwali essay in hindi

दिवाली पर निबंध 2021 | Best Diwali essay in hindi 2021

दिवाली पर निबंध हिंदी में diwali essay in hindi 2021 :- नमस्कार विद्यार्थी मित्रों, दिवाली हमारे देश मे मनाया जाने वाले सबसे बड़ा त्योहार है। यह त्योहार सभी को बेहद ही प्रिय होता है। इन दिनों बेहद सारी मौज मस्ती तो होती ही हैं लेकिन सबसे बड़ी बात स्कूल और कॉलेज में भी बहुत बड़ा अवकाश मिलता हैं। ऐसे में बहुत बार हमें दिवाली पर निबंध (diwali essay in hindi) लिखने के लिए कहा जाता हैं।

कहीं बार निबंध लेखन की प्रतियोगिताओं में भी दिवाली पर निबंध, दिवाली पर निबंध हिंदी में, मेरा प्रिय त्योहार दीपावली पर निबंध, diwali essay in hindi, essay on diwali in hindi, लिखने को कहा जाता है।

दिवाली पर निबंध इस लेख को पूरा पढ़िए आपको दिवाली कब है, दिवाली त्योहार क्यों मनाया जाता हैं, दिवाली के बारे में पूरी जानकारी मिल जाएगी।

दिवाली पर निबंध | Diwali essay in hindi 2021

दिवाली पर दस पक्ती निबंध 2021 | 10 lines on diwali in hindi

  1. भारत देश में मनाया जाने वाला दिवाली यह हिन्दुओं का सबसे बड़ा त्योहार है ।
  2. दिवाली त्योहार को दीपावली और दीपोत्सव के नाम से भी जाना जाता हैं। इसे रोशनी का त्योहार भी कहते है ।
  3. यह त्योहार हर साल अक्टूबर या नवंबर को मनाया जाता है।
  4. दिवाली के त्योहार पर सभी लोग अपने घरों, दुकानों और दफ्तरों को साफ कर उन्हे लाइटिंग और आकाश दिया कि मदत से सुंदर बनाते है।
  5. दिवाली के त्योहार पर सभी के घर में चिवड़ा, चकली, बसुंदी, गुलाब जामुन, रसगुल्ले जैसे मीठे और नमकीन व्यंजन बनाए जाते हैं।
  6. दिवाली के अवसर पर सभी छात्रों और कर्मचारियों को दस पंधरा दिन का अवकाश मिलता हैं।
  7. दिवाली के दिन प्रभु श्रीराम चोदा वर्ष का वनवास खत्म कर आयोध्या नगरी पहुंचे थे । तब वहां की जनता ने घरों और रास्तों पर दिए जलाकर उनका स्वागत किया था। तब से दिवाली यह त्योहार ।अनाया जाता है।
  8. दिवाली का पहला दिन धनतेरस और दूसरा दिन नरक चतुर्दशी का होता है।
  9. दिवाली के दिन शाम को घर के आंगन में दिए जलाए जाते है और छोटे बच्चे फटाखे जलाकर खुशियां मानते है।
  10. दिवाली त्योहार सभी की जीवन में बेहद सारी खुशियां लाता है इसलिए दीपावली यह त्योहार मुझे बेहद पसंद है।

दिवाली पर निबंध 100 शब्दों में | diwali essay in hindi in 100 words

दिवाली यह मेरा सबसे पसंदीदा त्योहार है। हर साल इस त्योहार का में बेसभ्री से इंतजार करता हूं। इस त्योहार को दीपावली के नाम से भी जाना जाता है। दीपावली यह त्योहार हर साल अक्टूबर और नवंबर माह को मनाया जाता हैं। यह त्योहार पांच दिनों का होता हैं।

पहला दिन धनतेरस होता है और इस दिन माता लक्ष्मी की पूजा और आराधना की जाती है। लोग लक्ष्मी माता से अच्छी स्वास्थ्य और धन पाने का आशीर्वाद मांगते है। दूसरा दिन नरक चतुर्दशी का होता है और इस दिन सबका लाडला कन्हैया मतलब भगवान कृष्ण की पूजा की जाती है। तीसरी दिन मुख्य दिवाली होती है और इस दिन शाम को दिए जलाकर और फटाखे जलाकर मनाया जाता हैं। चौथा और पांचवा दिन लक्ष्मीपुजा और भाई द्विज का होता है।

दिवाली पर सभी लोग अपने घरों, दुकानों और दफ्तरों की स्वच्छता कर उन्हे लाइटिंग और आकाश दिया से सजाते हैं। इस दिन घर में स्वादिष्ट व्यंजन बनाए जाते। नए कपड़े पहने जाते है। लोग मतभेद भूलकर गले मिलते हैं और दीपावली त्योहार की शुभकामनाएं देते है। यह त्योहार सभ का जीवन खुशियों से भर देता है। इसलिए मुझे दिवाली यह त्योहार बेहद ज्यादा पसंद है।

दिवाली पर निबंध 300 शब्दों में | diwali essay in hindi in 300 words

दीपावली यह भारत देश में मनाया जाने वाला सबसे बड़ा त्योहार है। यह त्योहार सभी के जीवनमे बेहद सारी खुशियां लाता है। इसलिए सभी हिन्दू लोग इस त्योहार का बेसब्रिसे इंतजार करते हैं। यह त्योहार भारत देश में हर साल अक्टूबर और नवंबर को मनाया जाता है।

इस त्योहार का तारीख तय नहीं होता है। यह तिथि के अनुसार कभी अक्टूबर में मनाया जाता हैं तो कभी नवंबर को मनाया जाता हैं। बाहर देश में रहने वाले भारतीय लोगों के लिए भी यह त्योहार बेहद ही महत्वपूर्ण है। वे इसे बड़े धूमधाम से मनाते है।

दिवाली त्योहार के साथ लोगों की धार्मिक आस्था भी जुड़ी है। यह त्योहार मनाने के पीछे कई सारी पौराणिक कथाएं कहीं जाती है। कुछ लोग कहते है कि इस दिन भगवान राम, सीतामाता और लक्ष्मण आपना चोदा साल का वनवास खत्म करके अपने राज्य अयोध्या नगरी लौटे थे।

तब उस राज्य के लोगों ने रास्तों और घरों को सजाकर दीप जलाए थे और भगवान श्रीराम का बेहद ही धूमधाम से स्वागत किया था। इसलिए तब से दिवाली यह त्योहार आज भी बड़े पैमाने पर पूरे हिन्दुस्तान में मनाया जाता है।

दीपावली त्योहार बाजारों में रौनक लाता है। इस त्योहार के दिनों में बाजारों में काफी भीड़ होती है। लोग कई सारी वस्तुएं और मिठाइयां खरीदने में व्यस्त दिखते हैं। मिठाई के दुकानों पर भी काफी ज्यादा भीड़ देखने को मिलती है। लोग बड़े पैमाने पर मिठाइयां और नए कपड़े खरीदते हैं। सजावट की वस्तुएं बेचने वाले स्टॉल अलग से लगते हैं। यहां पर सजावट की सभी वस्तुएं लोगों को मिल जाती। आकाश दिया खरीदना तो सबकी पसंद होती हैं।

दिवाली की दिनों में घरों की स्वच्छता की जाती है। लोग रंगीबेरांगी लाइटिंग और आकाश दिया से अपने घर को सजाकर सुशोभित करते हैं। लोग दुकानों और दफ्तरों को भी साफ़ सूत्रा कर उन्हे सजाते है। इन दिनों बच्चे बेहद ही खुश होते हैं क्योंकि उनकी पाठशाला और कॉलेजों में उन्हे बहुत बड़ा अवसर मिलता हैं। बच्चे फुलझड़ी, फटाखे जलाकर बहुत मोज करते हैं।

दीपावली यह त्योहार सभी के जीवन में बेहद सारी खुशियां लाता है। इन दिनों मिठाइयां और रसभरे व्यंजन खाने का मजा कुछ और ही होता हैं। मुझे दीपावली यह त्योहार बेहद ही पसंद है।

दिवाली पर निबंध 500 शब्दों में | diwali essay in hindi in 500 words

भारत देश त्योहारों की भूमि के नाम से जाना जाता है। क्योंकि भारत की धार्मिक विविधताओं के कारण भारत में हर साल बेहद सारे त्योहार मनाए जाते। इनमे गुड़ी पड़वा, होली, दिवाली, दशेरा यह कुछ हिंदुओ के मुख्य त्योहार हैं। हर त्योहार मनाने के पीछे कुछ विशेष पौराणिक कथाएं भी है।

दिवाली भारत देश में मनाया जाने वाला सबसे बड़ा त्योहार है। इसे कई बार दीपावली या दीपोत्सव के नाम से भी जाना जाता है। यह केवल हिंदुओ का ही उत्सव नहीं हैं बल्कि हिन्दुओं के अलावा भी कई सारे लोग इसे बड़े प्यार से मनाते है। जो हिन्दू लोग बाहर के देश में रहते हैं वह भी इस दीपावली त्योहार को बड़ी धूम धाम से मनाते है।

यह त्योहार बच्चे, बूढे, बुजुर्ग सभी को प्रिय है क्योंकि इन दिनों में बहुत ही मौज मस्ती होती है। बच्चे फटाके जलाकर बेहद मस्ती करते है। दिवाली के दिनों में शाम को घर के आंगन में मिट्टी के दिए जलाए जाते हैं। पूरा भारत देश इस रोशनी से झगमगा उटता हैं। इसलिए दिवाली के इस त्यौहार को रोशनी का त्योहार भी कहा जाता है।

दिवाली सुरु होने से कुछ दिन पहले से ही विद्यालयों, कॉलेजों, दफ्तरों में लंबे समय तक का अवकाश मिलता हैं। सभी लोग दिवाली की तैयारियों में जुट जाते हैं। इसमें घर और आंगन की स्वच्छता की जाती है। कई सारे गावों में नदी – नाले, रास्ते साफ़ कर स्वच्छता अभियान चलाया जाता हैं। सभी लोग भेदभाव को भूलकर इस स्वच्छता अभियान में शामिल होते हैं और गांव और देश की स्वच्छता में अपना योगदान देते हैं।

दिवाली में बहुत सारी खरीददारी होती है। बाजार और मार्केट रोशनी से झिलमिल उटते हैं। सभी जगह ग्राहकों की लिए विभिन्न वस्तुओं के स्टॉल लगाए जाते हैं। लोग दिवाली त्यौहार के दिनों में बाजारों में भीड़ लगाते हैं। बच्चे और बुजुर्ग सभी लोग नए कपड़े, घर सजावट की वस्तुएं, मिठाइयां और विविध रसभरे व्यंजन खरीदते हैं।

महिलाएं भी घर को सजाकर, उन्हें सुंदर बनाने में अपना हाथ बटाती हैं। महिलाए इन दिनों में चकली, चिवड़ा, गुलाब जामुन, रसगुल्ले, जैसे मीठे मीठे व्यंजन बनाने में व्यस्त रहती है। घर में सभी लोग बेहद सारे मीठे और नमकीन व्यंजन खाकर स्वस्त रहते हैं।

दिवाली के दिनों में दोस्तों, पड़ोसी और रिश्तेदारों को भी विविध पकवान खाने के लिए आमंत्रित किया जाता है। लोग एक दूसरे के गले मिलकर दिवाली की शुभकामनाएं देते है। घरों में बच्चो को पैसे और उपहार मिलते हैं।

दिवाली का त्योहार पांच दिनों का होता है। इनमे पहला दिन धनतेरस का होता है। इस दिन लोग लक्ष्मी की पूजा अर्चना करते हैं। दूसरा दिन नरक चतुर्दशी ए होता है। इस दिन भगवान कृष्ण को पूजा जाता है। भगवान कृष्ण के लिए पूजा रची जाती हैं, लोग आरती भजन गाते हैं और भगवान कृष्ण से स्वास्थ्य और धन को प्राप्त करने में हेतु आशीर्वाद मांगते हैं।

दिवाली यह त्योहार बेहद ही खूबसूरत होता है और पूरे भारत में इस दीपावली त्योहार को लोग बड़े धूमधाम से मनाते है। मुझे भी यह त्योहार बेहद प्यारा लगता है। इसलिए मुझे दिवाली यह त्योहार सबसे ज्यादा पसंद है।

टिप : दोस्तों आज के इस पोस्ट में मैंने आपके लिए दिवाली पर निबंध, दिवाली पर निबंध हिंदी में, diwali essay in hindi लिखा हूं। यह दीपावली पर निबंध आपको बेहद पसंद आएगा यह उम्मीद करता हूं।

दिवाली पर निबंध हिंदी में diwali essay in hindi यह निबंध सभी छात्रों के लिए काफी फायदेमंद है। यहां पर दिवाली पर निबंध 10 लाइनों में, 100 शब्दों में, 300 शब्दों में और 500 शब्दों में लिखा हूं।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *