Mbbs full form

Mbbs full form | एमबीबीएस का फूल फॉर्म क्या है?

Mbbs full form in hindi : नमस्कार दोस्तों क्या आप MBBS full form क्या है जानते हैं? यदि नहीं तो इस पोस्ट को पूरा पढ़िए क्योंकि इस पोस्ट में हम आपको Mbbs full form in hindi और एमबीबीएस का फूल फॉर्म के बारे में जानकारी देने वाले है।

जैविक विज्ञान (biology) की पढ़ाई करने वाला हर एक छात्र एमबीबीएस डॉक्टर बनने की चाह रखता है और डाक्टर बनाना किसीको पसंद नहीं होता है। डॉक्टर का समाज में बेहद ही respected स्थान है। डॉक्टर कई सारे बीमारियों पीड़ित लोगों का इलाज करके उन्हे नई जिंदगी देता है, इसलिए लोग डाक्टर (mbbs) को भगवान का रूप मानते हैं!

लेकिन क्या आपको mbbs का full form क्या है पता हैं? यदि आप डाक्टर बनाना चाहते हैं तो फिर आपको mbbs full form एमबीबीएस का फूल क्या होता है और एमबीबीएस कैसे बने के बारे में पूरी जानकारी होनी चाहिए।

इसलिए आज कि इस पोस्ट में हम आपको एमबीबीएस का फूल फॉर्म क्या है mbbs full form in hindi, mbbs का मतलब mbbs meaning in hindi और एमबीबीएस कैसे बने के बारे में पूरी जानकारी प्रदान करने वाले हैं। इस पोस्ट में आपको mbbs ka full form पता चल जाएगा।

MBBS का full form क्या है और एमबीबीएस कैसे बने | mbbs full form and meaning in hindi

Mbbs full form | एमबीबीएस का फूल फॉर्म क्या है?

दोस्तों एमबीबीएस एक मेडिकल डिग्री का नाम है और mbbs full form – Bachlore of Medicine and Bachlore of Surgery होता है। एमबीबीएस का फूल फॉर्म एक बेहद ही महत्वपूर्ण सवाल है। इसे आपको पता होना चाहिए क्योंकि बेहद सारे प्रतियोगी परीक्षाओं में mbbs का full form क्या है के बारे में सवाल पूछे जाते है।

मेडिकल क्षेत्र में पढ़ने वाले सभी छात्र एमबीबीएस डॉक्टर बनने का ख्वाब रखते है क्योंकि समाज में एमबीबीएस डॉक्टर को बेहद ही ज्यादा महत्व दिया जाता है और लोग उनकी रेस्पेक्ट भी करते है। यह एमबीबीएस का कोर्स कुछ 5.5 वर्षों का होता है इसे पूरा करने के बाद आपको एमबीबीएस का सर्टिफिकेट मिलता है। आपको एमबीबीएस का सर्टिफिकेट मिलने के बाद आप कभी भी प्रैक्टिस सुरु कर सकते हैं और नहीं तो आप अपना खुद का क्लीनिक भी खोल सकते है।

एमबीबीएस का फूल फॉर्म हिंदी में | mbbs full form in hindi

एमबीबीएस का फूल फॉर्म Bachlore of Medicine and Bachlore of Surgery होता है और इसका हिंदी में मतलब ” चिकित्सा स्नातक और शैल्य चिकित्सा स्नातक ” होता है। एमबीबीएस यह एक मेडिकल डिग्री है जिसे पूरा करने के बाद आप डाक्टर बन सकते है।

आजकल एमबीबीएस डॉक्टर को बेहद ज्यादा महत्व दिया जाता हैं। आपने भी देखा होगा कि यदि हम बीमार होते है तो हम हमेशा किसी एमबीबीएस डॉक्टर के पास जाना ही पसंद करते है। क्योंकि MBBS डॉक्टर की डिग्री बाकी BAMS और BHMS डॉक्टर की तुलना में बड़ी होती है और उनकी पढ़ाई भी ज्यादा होती हैं।

पर MBBS की डिग्री पाना इतना आसान काम नहीं है इसके लिए आपको काफी कड़ी मेहनत करनी पड़ती हैं, आपको Neet exam को काफी ज्यादा मार्क्स से पास होना होता है तभी जाकर आपको किसी Mbbs कॉलेज में एडमिश मिल सकता हैं।

एमबीबीएस (MBBS) का मतलब क्या होता हैं? (Mbbs meaning in hindi)

MBBS यह एक मेडिकल डिग्री है जिसे पूरा करने के बाद आप हिन्दुस्तान में कहीं पर भी अपना डाक्टर का प्रक्टिस सुरु कर सकते हैं। एमबीबीएस का मतलब चिकित्सा स्नातक और शैल्य चिकित्सा स्नातक होता हैं। यह एक मेडिकल क्षेत्र में बेहद ही खास डिग्री है इसमें व्यक्ति को पेशंट की जांच करने से शरीर के कठिन अंगो की सर्जरी करने तक का सभी महत्वपूर्ण ज्ञान मिलता हैं।

यदि आप भी एक MBBS डॉक्टर बनना चाहते हैं तो यह आपके लिए और आपके परिवार के लिए बेहद ही गर्व की बात होगी क्योंकि डाक्टर की इस पेशे में आप covid – 19 जैसी महामारी की परिस्थितियों में आप लोगों की और देश की सेवा कर सकेंगे। आप महामारी की परिस्थितियों में देश के लोगों की जान बचाने में महत्वपूर्ण योगदान दें सकते हैं।

MBBS की डिग्री हासिल करने के लिए आपकी क्या योग्यता (Qualification) होनी चाहिए?

किसी को भी MBBS कॉलेज में एडमिशन नहीं मिलता है इसके लिए आप में भी कुछ योग्यताएं होनी चाहिए।

शैक्षणिक योग्यता (educational qualification):

आप 10+2 के बाद MBBS की entrance exam देकर एमबीबीएस कॉलेज में एडमिशन ले सकते हैं इसके लिए आपने मेडिकल फील्ड से बराविं पास की होनी चिहिए। आपको बारविं कक्षा में जीवशास्त्र (biology), भौतिक विज्ञान (physics) और रसायन विज्ञान (chemistry) में 50% प्रतिशत से ज्यादा मार्क्स होने चाहिए।

उम्र (age):

एमबीबीएस करने के लिए उम्र की भी शर्त है इसके लिए आपकी उम्र 18 साल से 25 साल के बीच में होनी चाहिए। यदि आपकी उम्र 25 साल से ज्यादा है तो फिर आपको एमबीबीएस कॉलेज में एडमिशन नहीं मिलेगा। आरक्षित कैटेगरी के विद्यार्थीओं को आयु में अलग से छूट दी जाती हैं।

एमबीबीएस में एडमिशन लेने के लिए qualification और criteria क्या है ?

  • सबसे पहले तो आपका 12th क्लास में PCB ग्रुप होना चाहिए मतलब physics, biology और chemistry यह आपके 12th के विषय होने चाहिए।
  • आपको 12th में 50% से ज्यादा मार्क्स होने चाहिए। यदि आप आरक्षित कैटेगरी से बिलोंग करते है तो फिर आपके लिए 40% के उपर का क्राइटेरिया है।
  • आपकी उम्र 17 साल से 25 साल के बीच में होनी चाहिए।
  • Mbbs की entrance exam यानी Neet देना अनिवार्य है। यदि आपको cut off के उपर मार्क्स है तो ही आपको एमबीबीएस कॉलेज में एडमिशन मिलेगा।

MBBS डाक्टर कैसे बने ?

एमबीबीएस डाक्टर यह एक बेहद ही सम्मानित पद है और इसमें सैलरी भी बहुत ज्यादा मिलती है, इसलिए डाक्टर बनाना कोन नहीं चाहता? यदि आप भी मेडिकल क्षेत्र में अपना कैरियर बनाना चाहते हैं और एक एमबीबीएस डाक्टर बनाना चाहते हैं तो आपके लिए doctor कैसे बनें यह जानकारी मददगार साबित होगी।

Entrance Exam :

एमबीबीएस कॉलेज में एडमिशन लेने के लिए NTA (National testing agency) द्वारा entrance exam का आयोजन किया जाते है। इसमें आपको NEET, JIPMER जैसी मेडिकल एंट्रेंस एग्जाम देनी होती है। हर साल लाखों बच्चे इस Neet exam को देते हैं। आपके मार्क्स के अनुसार आपको सरकारी या निजी एमबीबीएस कॉलेजों मे एडमिशन मिलता है।

यदि neet exam में आपका स्कोर अच्छा है तो फिर आपको सरकारी mbbs कॉलेजों में एडमिशन मिलता है यदि आपका स्कोर थोड़ा कम है तो फिर आपको निजी एमबीबीएस कॉलेजों में एडमिशन मिलता हैं। हर साल सरकारी और निजी एमबीबीएस कॉलेजों का cut off लगता है इसके आधार पर बच्चों को कॉलेज एलोकेट होता है।

एमबीबीएस डिग्री पूरा करने में कितना समय लगता है? (MBBS Course duration)

एमबीबीएस कॉलेज में एडमिशन मिलने के बाद आपको वहां पे 4.5 साल mbbs की पढ़ाई करनी होती है। MBBS course का अवधि 5.5 साल का होता है इसमें 4.5 साल आपको कॉलेज में पढ़ाई करनी होती है और उसके बाद आपको एक साल इंटर्नशिप करनी होती हैं।

एमबीबीएस कोर्स की फीस (Mbbs course fees):

सरकारी और निजी एमबीबीएस कॉलेजों की फीस में आपको काफी तफावत देखने को मिलेगी। सरकारी कॉलेजों में एक साल की फीस कुछ 50 हजार से 2 लाख के बीच में होती है पर यदि निजी या खासगी कॉलेज (private college) की बात की जाए तो यहां पर आपको सरकारी कॉलेजों की तुलना बेहद ज्यादा फीस देनी पड़ती है।

Private कॉलेज में एक साल की फीस कुछ 7 लाख से 15 लाख रुपयों के बीच में होती है। इतनी ज्यादा फीस भरना किसी आम आदमी के बस बात नहीं है। इसलिए यदि आपको कम पैसों में mbbs की डिग्री हासिल करनी है तो फिर आपको मेहनत करके सरकारी कॉलेजों में एडमिशन लेना पड़ेगा।

एमबीबीएस करने के बाद आपको कितनी सैलरी मिलेगी (Salary):

एमबीबीएस डाक्टर की सैलरी कुछ फिक्स नहीं होती हैं यदि आप किसी सरकारी अस्पताल में काम करते है तो इसमें आपको आपके काम के अनुसार सैलरी मिलती है। यदि आपका खुदका अस्पताल होगा तो फिर आपको अनगिनत सैलरी मिल सकती है। डॉक्टर की सैलरी उसकी लोकप्रियता, उसके पास कितने पेशंट आते है, अस्पताल में उपलब्ध सुविधाओं पर निर्भर करती हैं।

एमबीबीएस करने के बाद आपको कहां जॉब मिलेगी (MBBS working area):

  • Hospitals
  • Health centres
  • Laboratories
  • Research centres
  • Private practice
  • Biomediacal companies
  • Government hospitals

दोस्तों मैंने आपको एमबीबीएस डाक्टर कैसे बने के बारे में पूरी जानकारी दी है जैसे की mbbs full form, qualification, criteria, cut off,fess, आदि। आपको एमबीबीएस (MBBS) के बारे पूरी जानकारी मिल गई है अब आप एमबीबीएस डाक्टर बनने के लिए preparation चालू कर सकते हैं।

आपने क्या सीखा ?

दोस्तों आज कि इस पोस्ट में हमने आपको एमबीबीएस का फूल फॉर्म क्या है MBBS full form in hindi और एमबीबीएस का मतलब MBBS meaning in hindi के विषय में जानकारी दी है। इसमें आपको एमबीबीएस डाक्टर कैसे बने के बारे में भी जानकारी मिली होगी।

दोस्तों डाक्टर को हम भगवान का ही दूसरा रूप मानते है क्योंकि वह लोगों को कई सारी घातक बीमारियों से बचाता है, उनकी सेवा करता है। मेडिकल क्षेत्र में एमबीबीएस डॉक्टर को बेहद ज्यादा महत्व दिया जाता हैं। इसलिए आज कि इस पोस्ट का उद्देश्य यही था कि हमारे पाठकों को mbbs full form के बारे में जानकारी प्रदान कि जाए। इससे पहले हमने OPD का फूल फॉर्म क्या है पर लेख लिखा है यदि आपने वह नहीं पड़ा है तो फिर आप यहां क्लिक करके उसे जरूर पढ़िए।

MBBS का full form क्या है यह पोस्ट आपको कैसा लगा हमे कॉमेंट करके जरूर बताइए, धन्यवाद…!

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

x